एक केमिकल कानों की गंदगी, मुह और बाहों की बदबू से लेकर दूर करता है मुंहासे, जानिये क्या है इसका नाम

एक केमिकल जो कई वीमारियों को दूर करने का काम करता है. अधिकांश लोग यही जानते है कि यह सिर्फ कान की गंदगी साफ़ करने के लिए उपयोग में लाया जाता है. लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे है कि यह केमिकल किस तरह उपयोग किय जा सकता है.

हम बात कर रहे हैं हाइड्रोजन पेरोक्साइड या H202 निश्चित रूप से दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल करने वाला घरेलू सेनेटाइजर में से एक है. आपने देखा होगा कि किसी चोट का ईलाज शुरु करने से पहले डॉक्टर भी चोट को सबसे पहले हाइड्रोजन से साफ करते हैं. क्योंकि इससे सारे कीटाणु मर जाते हैं. लेकिन इस केमिकल का इस्‍तेमाल यहीं तक ही नहीं होता है, बल्कि ये स्‍वास्‍थय, सौंदर्य और किचन के कई घरेलू कार्यों में भी बहुत काम आता है. हाइड्रोजन पेरोक्साइड के एक से बढ़कर एक फायदें है, जिनके बारे में सुनने के बाद अगर आपके घर में हाइड्रोजन की बोतल नहीं है तो आप जरुर ले आएगी.

आइए जानते है कि घर में रखी एक हाइड्रोजन पेरॉक्‍साइड किस तरह हमारे डेली रुटीन का हिस्‍सा बन सकती है. कानों का मैल साफ करने के लिए हाइड्रोजन पैराऑक्‍साइड हाइड्रोजन पेरॉक्साइड और पानी की एक मात्रा ले कर घोल बनाएं. इस बात का ध्‍यान रखें कि हाइड्रोजन पैराऑक्‍साइड की मात्रा 3% से ज्‍यादा ना हो नहीं तो घातक हो सकता है. अब इसकी कुछ बूंद कानों में डालें और कान में अच्‍छी तरह से चली जाने दें. उसके बाद कान को पलटें और बाकी का बचा घोल बाहर निकाल दें.

नाखूनों का फंगस खत्‍म करने के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड को ऑक्‍सीडेटिव थैरेपी के रूप में प्रयोग कर के नेल फंगस को ठीक कर सकती हैं. इसके लिये आपको अपनी उंगलियों को हाइड्रोजन पेरोक्साइड के घोल में डुबोना होगा. फिर जैसे ही ऑक्‍सीजन लेवल बढे़गा वैसे ही नाखूनों के फंगस खतम होने शुरु हो जाएंगें और सुंदर नाखून उगने लगेंगे. इसके लिए पानी या सिरके में 3% हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिला लें. अब अपने हाथों या पैरों को 30 मिनट के लिये इस घोल में डुबो कर रखें. ऐसा तब तक करें जब तक कि फंगस गायब ना हो जाए. एक महीना रोजाना इस टिप्‍स को फॉलों करें.

दांत साफ करने के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड एक ग्लास गुनगुने पानी में एक ढक्कन हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिलाएं और इस पानी को मुंह में भरकर 4 से 5 बार गरारे करें. हाइड्रोजन पेरोक्साइड में ब्लीचिंग गुण होते हैं जिसके इस्तेमाल से दांतों पर एक सफेद परत बन जाती है और दांत शाइन करने लगते हैं. लेकिन इसे अधिक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. सप्ताह में या 10 दिन में एक बार.

जीभ गंदगी हटाने के लिए अगर आपकी जीभ पर सफेद परत जम गई और रोजाना ब्रश के बाद भी नहीं निकल रही है तो हाइड्रोजन पेरोक्साइड एक भाग हाइड्रोजन पेरोक्साइड लें और उसे 2 भाग पानी में मिलाएं. अब सॉफ्ट टूथब्रश पर इसे लगाएं और धीरे धीरे स्क्रब करें. इसके बाद इसे थूक दें और पानी से अच्छे से कुल्ला करें. इसे हफ्ते में 3-4 दिन करें. याद रहे हाइड्रोजन पेरोक्साइड आपको निगलना नहीं है.

टूथपेस्ट में हाइड्रोजन पेरोक्साइड होता है जो मुंहासे को सुखाने में सहायक होता है. इसके अलावा कॉटन में हाइड्रोजन पेरोक्साइड की बूंदे लेकर मुंहासों के ऊपर लगाने से भी एक रात में मुंहासे गायब हो जाते है. ब्‍लैकहेड्स हाइड्रोजन पेरोक्साइड को रुई में 3% मात्रा में भिगों कर ब्लैकहेड्स से प्रभावित जगह पर लगाएं, ध्यान रहे हाइड्रोजन पेरॉक्साइड लगते समय आंखों तथा बालों से दूर रखें, क्योंकि यह आंखों तथा बालों के लिए हानिकारक होता है. इसके बाद आप अपने चेहरे को मॉश्‍चराइजर कर दें.

चोट पर लगाने के लिए छोटी मोटी चोटों और कटे जले को सही करने के लिए आप बाजार में मिलने वाले हाइड्रोजन पेरोक्साइडका इस्तेमाल कर सकती हैं. इससे रक्त का प्रवाह रूक जाता हैं और मृत टिशू बाहर निकल जाते हैं.

हाइड्रोजन पेरोक्साइड उन जीवाणु को खत्म करता हैं जो कि बांहों में बदबू फैलाते हैं. इसे आप अपने साबुन के साथ मिक्स कर 30 मिनट के लिए अपने बाहों के अंदर इस्तेमाल कर सकती हैं. इसके बाद आप इसे साफ पानी से धो लें.

हाइड्रोजन पेरोक्साइड सांसों की दुर्गंध से भी छुटकारा दिलाता है. यह एक बेहतर माउथवॉश के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. अगर आपकी सांसों से भी दुर्गध आती हैं तो आप भी इसका इस्तेमाल कर सकती हैं. इसका इस्तेमाल करने से सांसों में मौजूद अस्वस्थ सूक्ष्मजीव खत्म हो जाते हैं. इसके लिए आप हाइड्रोजन पेरॉक्साइड को 30 सेकंड के लिए अपने मुंह में भरकर, इसे मुंह के आसपास चलाकर थूक दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *