महिला अपराध के खिलाफ प्रदर्शन, एक मासूम का भी देखिये दर्द

बरेली: देश में बढ़ते महिला अपराध के विरोध में सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा. गुरुवार को महिलाओं और बच्चों ने प्रदर्शन कर सरकार से नारी सुरक्षा देने और बलात्कारियों को फांसी दिलाये जाने की मांग की.

बलात्कारियों को हो फांसी की सजा

आम आवाज संस्था के तत्वाधान ने कलेक्ट्रेट पर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया. उन्नाव कांड समेत घटनाओं को अमानवीय कृत्य बताते हुए घोर निंदा की गयी.

संस्था के अध्यक्ष सैय्यद शारिक अली ने कहा कि मासूमों पर दुष्कर्म की घटनाओं ने तो पशुता को भी पीछे छोड़ दिया है. उन्होंने कहा कि जिस देश में नारी की पूजा होती है, वहां उसके जिस्म के साथ खिलवाड़ हो रहा है. लोगों ने सरकार से बलात्कारियों को सरेआम फांसी देने की मांग की. ताकि भविष्य में कोई दुराचार की कल्पना नहीं कर सके.

उन्होंने कहा कि उन्नाव कांड में पुलिस ने पीड़ित के पिता को ही गिरफ्तार कर पीट-पीट हत्या कर दी. ऐसी घटनाओं से लोगों का विश्वास खाकी और खादी से उठता जा रहा है. कहा कि अगर निर्भया कांड के बाद सरकार ने कोई ठोस कानून बना दिया होता तो आज कोई आसिफा फिर से निर्भया नहीं बनती.

मासूम का देखिये दर्द

जो बच्ची ठीक से लिखना पढना भी नहीं जानती होगी. उसके जेहन में दुष्कर्म का डर पैदा हो गया है. हाथ में स्लोगन लिखी तख्ती लिए, जिसपर नारी को सुरक्षा और बलात्कारियों को फांसी देने की मांग की जा रही है. प्रदर्शन करने वालों ने कहा कि जिस देश में महिलाओं को सीता, पार्वती और दुर्गा जैसा माना जाता है. वहां हो रही ये घटनाएँ अंदर से झकझोर रही हैं.

इन मांगों को उठाया

संस्था ने हर बलात्कारी को फांसी की सजा दिलाने, उन्नाव में आरोपी विधायक की सदस्यता खत्म कराने, इस तरह के मामलों की फास्ट ट्रेक कोर्ट में सुनबाई कराने, एक माह के अंदर दोषियों को सजा दिलाने आदि की मांग की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *