नौकरी छोड़ बहन के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए, माँ-बेटी ने कसी कमर !

बरेली: बदायू के चर्चित डीजीसी क्राइम साधना शर्मा हत्याकांड मामले में आज उनकी बहन और 84 वर्षीय माँ बरेली के एसएसपी ऑफिस में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ गई. उनके साथ बरेली के तमाम अधिवक्ता भी आ गए.

बहन का आरोप है कि अफसरों के आदेश के बाद भी पुलिस मामले को लटकाए हुए है. हलांकि एसएसपी के आश्वासन के बाद विपर्णा ने भूख हड़ताल वापस ले ली और अपनी माँ के साथ बदायू लौट गई.

जानिये क्या है पूरा मामला

बदायू उझानी के मोहल्ला बाजार कलां निवासी डीजीसी क्राइम साधना शर्मा की 23 मई 2016 को इनोवा गाड़ी से कुचलकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में बीजेपी नेता पीसी शर्मा समेत 11 लोगो के खिलाफ हत्या का मुकदमा बदायू के उझानी थाने में दर्ज किया गया था.

साधना की बहन विपर्णा का आरोप है कि पुलिस इस मामले में सही से जाँच नहीं कर रही है. पुलिस आरोपियों से साठगांठ कर उन्हें बचाने का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि 11 आरोपियों में से पुलिस ने आठ को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है. लेकिन पुलिस की कमजोर पैरवी की वजह से ज्यादातर आरोपी जमानत पर रिहा हो चुके हैं.

नौकरी छोड़ इंसाफ की लड़ रही जंग

विपर्णा प्रोफेसर थी लेकिन अपनी बहन को इंसाफ दिलाने के लिए उसने नौकरी छोड़ दी. मुख्यमंत्री, डीजीपी, प्रमुख सचिव से लेकर पुलिस प्रशासन का ऐसा कोई अफसर नहीं छोड़ा जिसके पास वह नहीं गई हो.

विपर्णा को बदायू पुलिस पर भरोसा नहीं था. जिस पर उसने डीजीपी से बरेली पुलिस से जाँच करने की गुहार लगाई. विपर्णा की मांग को स्वीकार करते हुए डीजीपी ने बरेली क्राइम ब्रांच को जाँच सौंप दी थी.

लेकिन एक साल से अधिक समय बीतने के बाद भी जब विपर्णा को पुलिस से कोई सहायता नहीं मिली तो वो आज अपनी 84 साल की माँ के साथ अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर बैठ गई. विपर्णा गौड़ का आरोप है कि विवेचक जगदीश अरोड़ा ने विवेचना में लापरवाही दिखाई और कई महत्वपूर्ण साक्ष्य कोर्ट में दाखिल ही नहीं किए हैं.

विपर्णा , मृतक डीजीसी क्राइम की बहन

 

वही इस मामले में बरेली एसएसपी जोगेंद्र कुमार का कहना है कि डीजीसी क्राइम साधना शर्मा की बहन विपर्णा बरेली पुलिस की जाँच से संतुष्ट है. एसएसपी ने उन्हें आश्वाशन दिया है कि बीस दिनों में जाँच पूरी कर ली जाएगी. उन्होंने बताया कि इस मामले में आठ आरोपी जेल जा चुके है, जबकि दो आरोपियों पर इनाम घोषित किया जा चुका है.

 

जोगेंद्र कुमार , एसएसपी बरेली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *