बहेड़ी-फतेहगंज में खेली गई खून की होली, कहीं फायरिंग तो कहीं पथराव

बरेली. होली के दिन जहां लोग आपस में रंगों की होली खेल भाईचारे का संदेश दे रहे थे. तो वहीं बहेड़ी के नारायन नगला गाँव में खून की होली खेली जा रही थी. 

फायरिंग से लोग दहशत में थे और घरों में छिप जान बचाने की कोशिश कर रहे थे. यही हाल फतेहगंज पूर्वी के रम्पुरा कमल गांव का था. इस गांव में भी दूसरे समुदाय के लोगों ने पथराव का गांव का माहौल खराब कर दिया.


जिला पंचायत सदस्य और पूर्व प्रधान पक्ष में फायरिंग 


बहेड़ी के नारायन नगला गांव में जिलापंचायत सदस्य दीनदयाल गंगवार, पूर्व प्रधान नारायनदास पक्ष की महिलाओं के बीच रंग खेलने को लेकर विवाद हुआ. 

जिसे लेकर दोनों पक्ष आमने सामने आ गए. इस दौरान मारपीट-पथराव और फायरिंग हुई. बताया जाता है कि फायरिंग में पांच लोग घायल हुए है. 


डाक्टरों ने घायल कृपाल सिंह, तन्मय, खेमकरण, महेंद्र को जिला अस्पताल रेफर कर दिया. फायरिंग में एक भैंस के भी छर्रे लगे हैं. तनाव को देखते हुए सीओ जोगेंद्र लाल भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और मुकदमा दर्ज कर दो लोगों को हिरासत में ले लिया.

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा 


पुलिस ने एक पक्ष की तहरीर पर सुरेश, डेविड, भूपेन्द्र, दिलीप, गोविंदा, विपिन, सचिन सक्सेना के खिलाफ 307 समेत 6 धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया.


फतेहगंज में ढोल बजाने को लेकर पथराव 


फतेहगंज पूर्वी के रम्पुरा कमल गाँव में हिंदू समुदाय के लोग होली खेल परंपरा के अनुसार गामी वाले घरों ( जिन परिवारों के घरों में मौत हो चुकी है) में जाकर ढोलक बजा रहे थे. इसका मुस्लिम समुदाय ने विरोध किया. 

देखते ही देखते दोनों समुदायों में मारपीट-पथराव हो गया. सूचना पर पहुँची पुलिस ने उपद्रवियो को खदेड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *