बरेली डीएम को यूपी सरकार ने थमाई चार्जशीट, 15 दिन के भीतर मांगा जवाब

बरेली. कासगंज विवाद और जुलूसों को लेकर आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट लिखने वाले बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह से योगी आदित्यनाथ सरकार ने नोटिस देकर जवाब-तलब किया है.

आरोप है कि डीएम ने संवेदनशील मौके पर पोस्ट लिखकर विवाद को बढ़ावा दिया. जिससे सरकार को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा.

सरकार ने 15 दिन के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा है. प्रदेश के नियुक्त एवं कार्मिक विभाग ने इस बाबत जानकारी दी है. अगर जवाब संतोषजनक नहीं पाया गया तो जांच अधिकारी नियुक्त कर जांच होगी और फिर कार्रवाई.

जानिये क्या लिखा था डीएम बरेली ने

डीएम राघवेंद्र सिंह ने कासगंज में हुई तिरंगा यात्रा पर सवाल खड़ा कर पोस्ट की थी. डीएम ने अपनी पोस्ट में लिखा था कि अजब रिवाज बन गया है.

मुस्लिम मोहल्लों में ज़बरदस्ती जलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ.
क्यों भाई वे पकिस्तानी हैं क्या ? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए. डीएम ने अपनी एक पोस्ट में पीएम मोदी पर भी टिप्पणी की.

उन्होंने लिखा है जब कोई चायवाला, कोई नीच राष्ट्र नियता बनेगा तो भयभीत हो रहे स्थापित प्रभुत्व वर्गो में हादसे तो होंगे ही. डीएम ने विवादों में रही पद्मावत फिल्म पर लिखा कि अच्छा हुआ मै फिल्म देखने नहीं गया कही पद्मवती पसंद आ जाती तो. उन्होंने लिखा क्या आज के समय में कोई मुगलेआजम बनाने की सोच सकता है.

डीएम की पोस्ट पर काफी हंगामा मचा तो बिथरी विधायक पप्पू भरतौल और सरकार के मंत्रियों ने हद में रहने की नसीहत दी थी. जिसके बाद डीएम ने पोस्ट डिलीट कर दी थी. शासन के निर्देश पर बरेली के कमिश्रनर जगमोहन ने अपनी जांच में डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *