मोटापा घटाने के लिए कम कैलोरी वाला खाया तो हो सकता है हार्टफेल

शरीर की अतिरिक्त चर्बी घटाने के लिए आम तौर पर कम कैलोरी वाले भोजन को शरीर के लिए स्‍वास्‍थ्‍यकर माना जाता है.

क्‍योंकि इससे शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों की चर्बी घटाने में मदद मिलती है. यदि किसी का वजन बढ़ा हुआ हो तो डॉक्‍टर उसे कुछ हफ्तों के लिए बेहद कम कैलोरी वाला भोजन लेने के लिए कहते हैं. ऐसे भोजन में आमतौर पर कार्बोहाइड्रेड की मात्रा शून्‍य होती है, जबकि प्रो‍टीन अधिक. इससे शरीर का वजन तेजी से कम होता है.

लंदन में हुई स्‍टडी

ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिडी के शोधकर्ताओं ने कुछ लोगों पर अध्‍ययन किया. जिसमें यह पाया कि लगातार 8 सप्‍ताह तक छह सौ से आठ सौ कैलोरी भोजन करने से इन लोगों में मोटापा करीब 6 फीसदी कम हो गया जबकि आंत और लिवर की चर्बी में 11 और 42 फीसदी की कमी पाई गई.

हृदय को कैसा नुकसान

जब शोधकर्ताओं ने 52 वर्ष औसत आयु वाले 21 लोगों पर रिसर्च तो चौंकाने वाला नतीजा सामने आया. इस रिसर्च के अवधि में हृदय में जमा चर्बी में 44 फीसदी की वृद्धि‍ हो गई. इसके वजह से हृदय की रक्‍त संचरण की क्षमता कम होने का खतरा पैदा हो गया.

कम भोजन का परिणाम हृदय पर अच्‍छा नहीं रहा. ऐसे में इन शोधकर्ताओं का कहना है कि क्रैश डाइट हृदय रोगियों के लिए सही नहीं पाया गया है. ऐसे में यदि किसी को हृदय रोग हो तो उसे बिना डॉक्‍टरों के सलाह के अपने खान-पान में बदलाव नहीं करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *